धोनी हर समय कूल दिमाग के साथ रहतें है वो कोई भी फैसला जल्दबाजी में नहीं लेते है। जब उन्होंने यह फैसला लिया था तब भी उनके चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। उन्होंने बुधवार को अपने सभी खिलाडियों के साथ गेट टूगेदर किया विडियोगेम खेला और सभी के साथ हँसते हुए वक्त बिताया।
धोनी जो भी फैसला लेते है वो अपने तक ही रखते है किसी और करीबी को उस बारे में पता तक नही चलता है उनकी कप्तानी छोड़ने की बात उनके सबसे बेस्ट फ्रेंड चिंटू को भी नही पता थी और उनके स्कूल गुरु बनर्जी से जब इस बारे में पूछा गया तो उनको इस बात पर यकीन तक नही हुवा और उन्होंने टीवी पर देखने के बाद यकीन किया ।