ना धोनी ना रैना ना युवराज ना चहल एक खिलाडी जिसने मैच का रूख बदल दिया ।
इंडिया और इंग्लैंड टी-ट्वेंटी सीरीज का तीसरा मैच जो की बैंगलुरु में खेल गया। इंडिया ने जीत लिया है इस जीत का पूरा श्रेय चहल को दिया जा रहा है जो की गलत भी नहीं है चहल ने अपने करियर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 6 विकेट लिए है जो की टी-ट्वेंटी फॉर्मेट में किसी भी इंडियन बोलर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।
पर एक खिलाडी जिसने जीत का रूख इंडिया की तरफ मोड़ दिया वो है अमित मिश्रा । सुरेश रैना के एक ओवर में 22 रन देने के बाद इंग्लिश टीम पुरे जोश में थी लेकिन मिश्रा ने उस मोमेंट को चौथे ओवर में तोड़ दिया उस ओवर को शायद ही कोई भूल पायेगा। मिश्रा की शानदार बोलिंग का नज़ारा देखने को मिला। उस ओवर में रुट का एक कैच भी छूटा। 

अमित मिश्रा के इस ओवर में इंग्लिश टीम पर दबाव डाल दिया और इसी का फायदा इंडियन टीम और चहल को मिला और इंडिया ने ये मैच और टी-ट्वेंटी सीरीज को अपने नाम कर लिया।
विराट की कप्तानी में सभी खिलाडियों ने अपना बहुत ही शानदार प्रदर्शन दिखाया। और इस टी-ट्वेंटी सीरीज को अपने नाम किया। रैना ने 63 रन, धोनी ने 56, और युवराज ने 27 रन की धुंआधार पारी खेलते हुए 202 रन बनाये इस टोटल का पीछा करते हुए इंग्लिश टीम 127 रन पर ढेर हो गयी। और इंडिया ने ये मैच बड़े मार्जिन 75 रन से जीत लिए ।